दोस्तों मेरा नाम भार्गव हैं और मैं वैसे तो गुजराती हूँ लेकिन पिछले २ पीढ़ी से हम लोग दिल्ली में बसे हुए हैं. पापा का यहाँ पर मीठाइ का शॉप हैं और हम लोगों ने अच्छा काम और पैसे बनाए हैं इस धंधे में. मेरी माँ मैं जब बहुत छोटा था तभी मर गई थी. अभी मैं २१ साल का हूँ और मेरे लंड का साइज़ ७ इंच हैं. ये बात मेरी सेक्सी सौतेली माँ की चुत चुदाई की हैं, जो उसने मुझे ब्लेकमेल कर के करवाया था. दोस्तों इसी बात को आज मैं आप लोगो के सामने सेक्स कहानी बना के लाया हूँ.

सौतेली माँ की सेक्सी अदा

पहले मैं आप लोगो को मेरी सौतेली माँ के बारे में बता दूँ. वो सिर्फ ३५ साल की हैं, मेरे पापा से १५ साल छोटी. वो एक बहुत गरीब घर से हैं और पापा का पैसा देख के ही वो उनके साथ शादी करने के लिए राजी हुई थी. मेरी बुआ वगेरह को मेरी इस सौतेली माँ के लक्षण पहले से ठीक नहीं लगते थे. उन्होंने पापा को कहा भी था की यह औरत हमारे खानदान के लिए सही नहीं हैं. लेकिन उस वक्त जवान चुत चोदने को मिलेगी यह सोच के शायद पापा ने किसी की नहीं सुनी थी. मेरी बुआ वगेरह ने कुछ सालों तक तो मेरे पापा से सबंध कट जैसे ही रखे थे लेकिन फिर वो लोग हमारे घर आने जाने लगे थे.

पहले मुझे अपनी इस सौतेली माँ का कोई ख़राब अनुभव नहीं हुआ था. लेकिन एक रात को जब वो मेरे कमरे में दूध देने के लिए आई तो उसने मुझे सोता हुआ पाया. वो कमरे से जाने की जगह पर मेरे बेड पर बैठ गई. और फिर मेरे पेंट के ऊपर से ही मेरे लंड को निहारने लगी. पता नहीं उसकी हिम्मत इतनी कैसे बढ़ गई की उसने मेरी ज़िप को खोला और लंड को अंडरवेर के ऊपर से ही टच करने लगी. मुझे इस टच की वजह से नींद में खलल पड़ी और मैंने सोचा की शायद कुछ हैं मेरे लंड पर. मैंने जैसे ही लंड पर हाथ मारा तो वहां मुझे अपनी सौतेली माँ का हाथ मिला. मैंने आखे खोली और कहा, ये क्या कर रही हो आप?

कुछ नहीं बस देख रही थी?

प्लीज़ उठे आप, मुझे यह सब पसंद नहीं हैं.

अरे इतना क्यूँ बिगड़ते हो बेटा, टच तो किया था सिर्फ.

नहीं प्लीज़ लिव माय रूम.

ओके, जाती हूँ शोर मत करो तुम.

वो जब कमरे से निकली तो उसकी आँखों में थोडा गुस्सा था. मैंने दूध पी लिया और फिर मैं सोने की ट्राय करने लगा. लेकिन मुझे कैसे भी कर के नींद नहीं आ रही थी. मैं अपनी सौतेली माँ के बारे में ही सोचता रहा घंटो तक. फिर दुसरे दिन मैं नोर्मल हो गया. लेकिन जल्पा (मेरी सौतेली माँ का नाम) ने मुझे ठीक से भाव नहीं दिया उसके बाद से.

कुछ दिन तक ऐसा चला और मैं तो उस रात की बात को भूल भी चूका था. ऐसे करते ही एकाद महिना निकल चूका था और मैं अपने कमरे में बैठ के मैगज़ीन पढ़ रहा था तब जल्पा मेरे कमरे में आई. उसने आज स्लीवलेस नाईटी पहन रखी थी और उसके बूब्स उपर निचे हो रहे थे. वो मेरे पास एकदम करीब बैठ गई. मैं उसे कहने को ही था की प्लीज़ आप जाओ यहाँ से, क्यूंकि मुझे घर की औरतों के साथ सेक्स में दिलचस्पी नहीं थी.

उसने अपना हाथ मेरी जांघ पर रखा तो मैं बिगड़ गया.

आप को उस दिन कहा था न की आप ऐसा सब न करे.

जल्पा ने हंसी के साथ कहा, बेटा आज तुम कुछ बोलने की सूरत में नहीं हो!

मैंने चौंक के कहा, क्या मतलब हैं आप का?

ये देखो, इतना कह के उसने अपना मोबाइल मुझे दिया, जिसमे एमएक्स प्लयेर की स्क्रीन खुली हुई थी. और उस स्क्रीन पर मैं था बाथरूम के अन्दर. मैं बाथरुम में मुठ मार रहा था वो सिन उसने पता नहीं कहा से रिकोर्ड कर रखा था. मैंने फट से वीडियो बंध किया तो वो बोली, कैसी लगी मेरी डिरेकट की हुई पहली पोर्न मूवी?

आप क्या चाहती हो?

वही जो उस दिन कर रही थी, लेकिन आज तुम मेरे गुलाम बन के करोगे, उस दिन करते तो शायद मैं तुम्हारी दासी बन जाती.

नहीं आप को पापा को बताना हैं तो बता दे, मैं कुछ नहीं करूँगा.

भला मैंने कब कहा की मैं तेरे पापा से कहूँगी, वो बेड में तो मुझे संभाल नहीं पाता हैं तो मैं कैसे उम्मीद करूँ की वो तुझे कुछ कहेगा.

मैंने कहा, इस उम्र में सब नोर्मल होता हैं, हस्तमैथुन करते हैं लड़के और आजकल तो लडकियां भी.

हां लेकिन उन सब की पोर्न मूवीस इंटरनेट के ऊपर अपलोड तो नहीं होती हैं.

चुत चुदवाया मुझे ब्लेकमेल कर के

बाप रे, ये दाव खेलेंगी मेरी सौतेली माँ अपनी चुत चुदवाने के लिए वो तो मैंने सोचा ही नहीं था.

वो बोली, मैं इसे बहुत सब साइट्स पर अपलोड कर दूंगी, फिर देख लेना की तेरे दोस्त तुझे ये क्लिप दिखायेंगे. और तेरे पास कोई प्रूफ नहीं होगा मुझे कठहरे में खड़ा करने के लिए.

आप क्या चाहती हो?

पहले अपने कपडे खोलो और नंगे मुर्गा बन जाओ मेरे सामने?

क्या, प्लीज़ छोडो न जल्पा.

साले भडवे उस दिन मुझे जलील कर के रूम से बहार किया था न आज मैं तुझे सबक सिखाउंगी, चलो जल्दी करो.

मेरे पास कोई चारा नहीं था इसलिए मैं खड़ा हुआ और नंगा हो के उसके सामने मुर्गा बन गया. जल्पा मेरे पीछे आई और मेरी गांड पर जोर से लात मारी तो मैं आगे गिर गया. फिर वो बोली, चलो अब बेड में लेट के मेरे सामने अपने लंड को हिलाओ.

मैं वैसा करने लगा तो उतनी देर में वो खुद भी नन्गी हो गई. उसकी चुत एकदम साफ़ थी, एक भी बाल नहीं था उसके ऊपर. फिर उसने मुझे कहा की चलो मेरी गांड चाटो.

मेरे पास कुछ नहीं था इसलिए सरेंडर ही था मैं. वो अपने कूल्हों को खोल के मेरे मुह पर बैठ गई और अपनी गांड को मेरे होंठो पर घिसने लगी. उसकी गांड से हलकी हलकी गु की स्मेल आ रही थी. फिर भी मुझे उसकी गांड को अपनी जबान से चाटना पड़ा. गांड के साथ साथ वो अपनी चुत को भी घिस रही थी मेरे ऊपर.

एकाद मिनिट ऐसे करने के बाद वो बोली, चलो अब मुझे चरम सुख दो.

इतना कह के वो अपनी टाँगे खोल के बेड में लेट गई. मैं उसके ऊपर चढ़ गया. उसकी चुत में डाला तो मुझे खुला खुला सा महसूस हुआ, बुआ की राय सही थी मेरी इस सौतेली माँ के लिए वो मैं समझ गया. शायद उसने अपनी जवानी से ले के आजतक खूब लंड लिए थे इसलिए उसकी चूत एकदम ढीली हो चुकी थी. मुझे ऐसा लग रहा था की नदी के अंदर एक छोटा सा लोटा दे दिया गया हो. फिर उसने अपने चुत के मसल को कसे तो थोडा टाईटनेस आया. अब मैं उसे मज़बूरी में चोद रहा था. लेकिन एकाद मिनिट में मुझे भी मजे आ रहे थे क्यूंकि वो मोअन करते हुए मेरे लंड की तारीफ़ कर रही थी.

वाह्ह्ह बेटे वाह क्या चोद रहा हैं अपनी माँ को, तेरे लंड में जो ताजगी हैं की मैं खुद को रोक नहीं सकी, चोददददद और जोर जोर से मुझे, आह्ह्ह्ह क्या लंड हैं तेरा, मेरी चुत मजे ले रही हैं आह्ह्हह्ह ओह्ह्हह्ह्ह्ह ह्ह्ह्हह्हह्ह्ह दे अंदर, अह्ह्ह्हह्ह्ह्ह मजा आ रहा हैं.

और ऐसे मोअनिंग करते हुए वो अपनी चुत को मेरे लंड पर और भी जोर जोर से मार रही थी. तभी उसकी चुत ने मेरे लंड पर एकदम हार्ड ग्रिप बनाई और वो हिलना बंध कर के मुझे चिपक गई. उसका पानी निकल गया और वो मुझे होंठो पर किस करने लगी. अब मैंने अपने झटके तेज कर दिए और मैं भी उसकी बुर में खाली हो गया. जल्पा ने कस के मुझे किस दिया और बोली, चल निकाल ले अपने औजार को मेरे बुर से.

मैंने जैसे ही लंड निकाला तो वो निचे बैठ के उसे चूसने लगी. चाट चाट के उसने लंड को साफ़ कर दिया और फिर अपनी नाइटी पहन के बोली, तुझे कैसा लगा?

मैंने उखड़ी हुई साँसों से कहा, बहुत मस्त!

तो फिर जब भी पापा नहीं होंगे तू मुझे तृप्त करेगा न, देख घर का लंड मेरी चुत को मिलता रहा तो मैं बहार मुहं नहीं मारूंगी और हमारे खानदान का नाम निचे नहीं होगा.

मैंने कहा, लेकिन इस क्लिप का क्या?

तो वो बोली, ये मेरी चुत की चुदाई की जमानत हैं जब तक तेरी चुप रहेगी तू मेरी चुत चोदता रहेगा! ऐसा कह के वो अपनी बड़ी गांड हिला के कमरे से बहार चली गई.

दोस्तों अपनी इस सौतेली माँ को फिर तो मैं खुद रेग्युलर चोदता आया हूँ. उसकी पिछवाड़े वाली गली यानी की गांड की गुफा तक में मेरा लोडा घुस आया हैं. बिच में एक साल उसके प्रेग्नन्सी और डिलीवरी की वजह से मैंने उन्हें नहीं चोदा, वरना तो रेग्युलर सेक्स करते हैं हम. वो मुझे कहती हैं की ये तेरा भाइ नहीं पर बेटा हैं!