दोस्तों मेरा नाम जमील हैं और मैं हैदराबाद का रहनेवाला हूँ. मैं एक हॉट लड़का हूँ जिसके लंड की लम्बाई पुरे ८ इंच हैं. मुझे सेक्स करना और सेक्स की कहानियों को पढना बहुत पसंद हैं. सकसेक्स डॉट कॉम के उपर ही मैं पिछले काफी सालो से सेक्स की कहानियाँ पढ़ रहा हूँ. और फिर मैंने सोचा की क्यूँ न मैं भी अपना एक अनुभव इस साईट के ऊपर रखूं. वैसे यह चुदाई में मैं इन्वोल्व नहीं था. हमने तो सिर्फ देखी थी.

मेरे दो ख़ास दोस्त हैं अहसान और बबलू. बबलू के पापा हैदराबाद में ही एक २० मंजिला ईमारत में काम करते हैं. और कभी कभी हम तीनो दोस्त घरवालो से छिप के बियर पिने के लिए इस इमारत की छत पर जाते हैं.  बबलू के पापा के साथ काम करनेवाले वाचमेन अंकल हमें जानते हैं इसलिए हमें ऊपर जाने देते हैं. लेकिन उन्हें यह पता नहीं की हम बियर पिने आते हैं वहां पर.

बियर पार्टी में हुआ बवाल

एक दिन शाम को ४ बजे मुहे बबलू ने व्हाट्सएप्प किया की बिल्डिंग पर जायेंगे? मैंने यस रिप्लाय किया. शाम के करीब पौने ५ को हम सब मिले और बेग में बियर के २ तिन छिपा के हम बिल्डिंग की छत पर चढ़ गए. आज अहसान अपने साथ एक दूरबीन ले के आया था. उसे यह दूरबीन किसी ने गिफ्ट किया था और बिल्डिंग पर से दूर के नज़ारे देखने के लिए वो साथ में ले के आया था.

बबलू चखने के पेकेट खोल रहा था और अहसान ने दूरबीन के ग्लास के आगे से ढक्कन निकाले और वो इस ऊँची बिल्डिंग से दूर के नजारों को करीब से देखने लगा. तभी वो बोला, इसकी माँ का भोसड़ा, देखो तो बे ये छमिया क्या कर रही हैं!

मैं और बबलू उसकी तरफ देख के सोचने लगे की इसने कौन सी छमिया को देख लिया.

अहसान की आँखे दूरबीन में ही थी. मैं और बबलू उसके पास गए तो उसने दूरबीन हमें देने के लिए आगे किया और बोला वो सामने जो छत दिख रही हैं न उसके ऊपर पानी की टंकी हैं उसके साइड में एक लौंडी अपने यार के साथ किसिंग कर रही हैं.

यह सुनते ही मैंने और बबलू ने भी इस लौंडिया को देखने के लिए तालावेली दिखाई. शायद कोई प्रेमी पंछियों का जोड़ा सेक्स में मग्न था छत पर और उन्हें पता नहीं था की शहर में ऊँची इमारते बहुत हैं. मैंने पहले दूरबीन लिया और जब वो सिन देखा तो सोच में पड़ गया की कहीं यह मेरी बहन शाहीन तो नहीं हैं! कद काठी और कपडे से तो वही लग रही थी. लेकिन मैं कुछ नहीं बोला, हां मेरे गला सूख जरुर गया था. बबलू ने मेरे हाथ से दूरबीन खिंच लिया और बोला, साले खुदने निचे कर दिया और मुझे देता भी नहीं.

बबलू और अहसान को शायद शाहीन की पहचान  नहीं हुई थी लेकिन मेरे मन में अब ८५% यकीन था की वो मेरी बहन ही हैं जो अपने किसी यार के साथ उसके घर की छत पर सेक्स कर रही हैं. अब मैं जो उसे दूरबीन से देखता नहीं तो मेरे दोनों दोस्तों को शक हो जाता इसलिए मैंने नार्मल बिहेव करना ही ठीक समझा. अहसान के हाथ से मैंने दूरबीन खिंचा और बोला, देखने दे ना बे.

बबलू बोला, साला आज तिन दूरबीन की जरूरत थी बे.

मैंने जब वापस उस टंकी के पास का सिन देखा तो अब वहां सिन में थोडा बदलाव हुआ था. इस बन्दे ने अपना लंड निकाला था शायद, वैसे वो लोग काफी दूर थे हमसे इसलिए क्लियर देखना मुश्किल ही था. शाहीन निचे झुकी हुई थी और उसका माथा ऊपर निचे हो रहा था इसका मतलब वो लंड चूस रही थी अपने इस यार का. अब बबलू ने मेरे से दूरबीन छिना और वो मेरी बहन के सेक्स काण्ड को देखने लगा. मैंने देखा की अहसान का लोडा कडक हो गया था क्यूंकि उसके पेंट के उस हिस्से में तम्बू जैसा आकार बना हुआ था. वो बार बार अपनी उंगलियों से लंड को खुजा रहा था.

छत पर सेक्स करते देखा शाहीन को

फिर हम तीनो ने बारी बारी कर के शाहीन को सेक्स करते हुए देखा. मैंने अपने १/३ भाग में जो देखने को मिला उसका सारांश आप को कहूँ तो शाहीन ने अपने इस यार का लंड चूसा और फिर उसके बूब्स को उसके यार ने गोदी में बिठा केचुसे. वो दोनों कभी भी पुरे नंगे नहीं हुए जिस हिस्से की जरुरत पड़ती थी वहाँ का कपडा हटा के वो  निकाल लेते थे. लंड चुसाई और बूब्स सकिंग के बाद शाहीन अपने इस लवर के लंड पर बैठ गई. और उसने मेरी इस सेक्सी बहन को बूब्स पकड के चोदा. इन दोनों ने करीब २० मिनिट तक सेक्स किया जिसमे से कुछ ७-८ मिनिट का सिन मेरे हिस्से में देखने को आया.

फिर हम लोगो ने बियर पी ली और मैं आज रोज से जल्दी घर की तरफ निकला. बबलू ने तो मुझे कहा भी की साले इस लड़की की चुदाई देख के मुठ मारने का मन हुआ हैं तेरा ऐसा लग रहा हैं. साले दोस्तों को और शराब को अधूरे में छोड़ दिया अपने लौड़े के लिए.

अब मैं उसे कैसे कहूँ की वो जो सेक्स कर रही थी वो मेरी बहन ही थी और उसे देख के मेरा लंड कतई खड़ा नहीं हुआ था. मैं तो बस वो देखने के लिए जल्दी घर जा रहा था की चुदाई करवा के आने के बाद शाहीन में कुछ फर्क होता हैं या नहीं. लेकिन ऐसा कुछ नहीं था, वो घर आई तो जैसे ट्यूशन से ही आई हो वैसे अपने बसते को सोफे पर डाल के अम्मी को बोली, अम्मी जल्दी से चाय चढ़ा दो न प्लीज़.

मैं मन ही मन कह रहा था की जा साली रंडी नाहा के आ, सेक्स के कीटाणु अभी तेरी चूत से चिपके ही होंगे!