हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रोहित है और यह कहानी तब की है, जब मेरी उम्र 23 साल की थी और अभी मेरी उम्र 25 साल है. दोस्तों में इस कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने मेरी पड़ोस वाली भाभी को चोदकर उसकी बरसो की तमन्ना को पूरा कर दिया. दोस्तों मुझे शुरू से ही मॉडलिंग में जाना था, इसलिए पहले से ही में अपने शरीर को बहुत फिट, सेक्सी रखता हूँ और में हर दिन सुबह जल्दी उठकर कसरत भी करता हूँ, लेकिन में हमेशा सुबह करीब 6 बजे ही उठकर कसरत करता हूँ.

उस दिन भी में हर दिन की तरह कसरत कर रहा था कि तभी मेरी नज़र मेरे पीछे वाले फ्लेट पर पड़ी. मैंने देखा तो वहां पर दो हॉट सेक्सी औरते खड़ी हुई थी, जिन्हें मैंने कभी भी नहीं देखा था. उनमें से एक तो बहुत ही ज्यादा सेक्सी लग रही थी और एक थोड़ी ठीकठाक थी, वो दोनों मुझे लगातार घूरे जा रही थी, लेकिन मैंने उन्हें अनदेखा करके अपनी कसरत खत्म करके नीचे चला गया.

फिर जैसे तैसे करके वो दिन निकल गया, लेकिन पूरे दिन में बस यही सोचता ही रहा कि वो दोनों कौन है? जो भी है, लेकिन वो माल तो बहुत सेक्सी है और ऐसे सोचते सोचते में दूसरे दिन वापस छत पर कसरत कर रहा था. मैंने देखा कि अब भी वो दोनों मुझे ही घूर रही थी, वो साली दोनों मुझे रंडी ही लग रही थी.

फिर में नीचे आकर नहाकर चाय पीकर बालकनी में आकर खड़ा हो गया. तभी बाहर एक सब्ज़ी वाला आ गया तो वो दोनों औरते सब्ज़ी लेने के लिए नीचे आ गई और गंदे दो मतलब वाले शब्दों में वो मेरी तरफ देखकर उस सब्ज़ी वाले से बोली भैया हमे तो अच्छी लंबी, मोटी वाली गाजर पसंद है, वो आप हमे दो किलो दे दो, एक यह खाएगी और एक में और मेरी तरफ गंदी हंसी देकर हंसी, तभी दूसरी ने एकदम मुझसे बोला कि हैल्लो भाई क्यों हमे पहचाना या नहीं? तो मैंने कहा कि जी नहीं, तो वो बोली कि अरे हम अंकिता और प्रिया है गीता की कज़िन.

फिर मैंने बोला कि अरे आप अंकिता दीदी और प्रिया दीदी हो. फिर वो मुझसे बोली कि हाँ अब मुझे थोड़ा आराम महसूस हुआ. मैंने भी मौका देखकर बोला कि तब तो में आपके घर पर आता हूँ. फिर वो मुझसे मुस्कुराते हुए बोली कि हाँ ज़रूर, तुम चाहो तो अभी ही चलो और फिर में तुरंत नीचे आ गया और उनके साथ उनके घर पर चला गया. उन्होंने मुझे अपने घर पर ले जाकर बैठाया.

तभी कुछ देर बाद प्रिया हमारे लिए चाय बनाकर लेकर आ गई और हम तीनों ने एक साथ बैठकर चाय पी और तब बातों ही बातों में मुझे पता चला कि अंकिता जिसकी उम्र 36 साल की है, उसके पति की कुछ सालों पहले म्रत्यु हो गई है और अभी तक उसके कोई औलाद भी नहीं है और प्रिया जिसकी उम्र 40 साल की है, उसकी एक बेटी है और जो सूरत में रह रही है और वो अपनी कॉलेज की पढ़ाई के लिए वहां पर गई है और उसके पति एक छोटे व्यापारी है, जिसकी वजह से वो अधिकतर समय घर से बाहर ही रहते है.

दोस्तों उनके मुहं से यह बातें सुनकर ही मेरे तो मुहं में जैसे ख़ुशी के लड्डू आ गये और में मन ही मन सोचने लगा कि अब तो अंकिता जरुर अपनी चूत चुदाई के लिए बहुत तड़प रही होगी? और में बहुत देर तक यह सब सोच रहा था और फिर मैंने उनसे पूछा कि क्यों गीता भाभी कहाँ गई है? दोस्तों गीता भाभी की उम्र 45 है, लेकिन दिखने में उन तीनों का फिगर बहुत सेक्सी है और यह दोनों उनकी कज़िन बहनें है.

फिर वो मुझसे बोली कि वो यहीं पर है, लेकिन आज उनकी एक दोस्त की बेटी की शादी है और वो वहां पर गई है और फिर हम लोग बैठे हुए बातें कर रहे थे कि तभी प्रिया मुझसे पूछने लगी कि तुमने अभी तक कितनी गर्लफ्रेंड बनाई है? तो मैंने कहा कि मेरी अभी तक तीन गर्लफ्रेंड बनी है और तब अंकिता दीदी बोली कि अच्छा तुमने तीन के साथ मज़ा लिया है.

फिर मैंने कहा कि हाँ यह लाईफ मज़े लेने के लिए ही तो है और मैंने उनकी तरफ आँख मार दी. तभी प्रिया बोली कि हाँ तुम्हारी एकदम सही बात है और तेरा तो शरीर भी बहुत सेक्सी है. फिर मैंने कहा कि आपने जब में छत पर सुबह कसरत कर रहा था तब देखा होगा? तो अंकिता बोली हाँ तभी ही देखा होगा ना, हम तुम्हारे बाथरूम में देखने थोड़ी आ सकते है? यह बात बोलकर वो दोनों हंस पड़ी. दोस्तों में अब उनकी दो मतलब की बातें सुन सुनकर थोड़ा सा खुल गया था और में उनसे बोला कि हाँ आप तो बाथरूम में भी देख सकते हो? तो तुरंत अंकिता बोली कि ऐसी बात है तो ज़रा तुम बाथरूम में जाकर अपनी शर्ट को उतारकर तो हमें दिखा दो.

दोस्तों मैंने तो मन ही मन बहुत खुश होकर बिना कुछ सोचे समझे झट से हाँ कह दिया और में बाथरूम की तरफ चल पड़ा और अंदर जाते ही मैंने शर्ट को उतार दिया और फिर वो दोनों भी मेरे पीछे पीछे बाथरूम में अंदर आ गई और मेरे शरीर को देखकर बोली होह्ह्ह्हह बहुत हॉट सेक्सी बदन है तुम्हारा.

अब मैंने भी बिना देर किए बोल दिया कि हाँ आप दोनों भी बहुत सेक्सी हो, में पिछले दस दिन से आपको याद करके अपना लंड हिला रहा हूँ. तभी अंकिता मेरे एकदम पास आकर मुझसे बोली कि साले क्या तुझमें इतना भी दम नहीं कि सामने से पूछ सके, लंड हिलाने की क्या ज़रूरत है? जब हम दोनों तेरे सामने मौजूद है तब भी तू ऐसे शरमा रहा है. दोस्तों उसके मुहं से ऐसे शब्द सुनकर में समझ गया कि यह दोनों ही बहुत बड़ी चुदक़्कड़ है और फिर अंकिता एकदम से मेरे होंठो को चूसने लगी तो में भी उसके होंठो को चूसने लगा और हम दोनों ही बहुत बेकरार हुए जा रहे थे, वाह मज़ा आ गया और अब उसने मेरी छाती पर अपना एक हाथ घुमाना शुरू किया और वो मुझसे बोली कि मादरचोद अच्छा शरीर दिखाने के लिए नहीं होता प्यास बुझाने के लिए होता है.

फिर में भी बोला कि साली रांड आज़ में देखता हूँ कि तेरी चूत में कितना दम है, क्योंकि आज में तेरी चूत को चोद चोदकर भोसड़ा बना दूंगा. फिर वो मुझसे बोली कि हाँ हम भी देखते है कि तेरे इस केले में कितना दम है और वो इतना कहकर मुझसे लिपट गई और मैंने उसकी साड़ी को उतार दिया, साड़ी निकालने के बाद वो सिर्फ ब्लाउज और पेंटी में थी, उस साली का क्या फिगर था मानो 26 साल की कोई कुंवारी लड़की हो. मैंने उसके बूब्स दबाए ऑश वाह बहुत मुलायम बूब्स थे, ऐसा लग रहा था कि बहुत लोगों ने उसके बूब्स दबाए होंगे और में उससे बोला कि कितनो को यह आम दिए है? तो वो साली मुझसे बोली कि जितनो का केला मैंने चूसा है उन सबको मैंने अपने आम दिए है.

अब उसके मुहं से यह सब बातें सुनकर मुझमें बहुत जोश और आ गया और मैंने उस साली को दीवार पर चिपका दिया और उसका ब्लाउज ब्रा को उतार दिया. दोस्तों वो क्या गोरी थी? उसके निप्पल हल्के भूरे रंग के थे और में उसको चूस और दबा रहा था और वो अहहहह आह्ह्हह्ह करके मेरी छाती को सहला रही थी और उसका एक हाथ मेरे लंड पर था, जिससे वो मेरा लंड भी हिला रही थी और फिर उसने एक ही झटके से मेरा अंडरवियर उतार दिया और फिर वो मेरा लंड देखकर बोली कि मादरचोद यह लंड इतना मोटा और बड़ा कैसे है, अभी तेरी तो उम्र ही बहुत छोटी है.

फिर में बोला कि यह तुझ जैसी रांड को चोदते चोदते लंबा हो गया है. तभी वो बोली कि झूठे साले इतना कहकर उसने एकदम से नीचे बैठकर मेरे लंड को अपने मुहं में ले लिया और चूसने लगी, आहहहहह आईईईईई उफफ्फ्फ्फ़ मेरी जान ज़ोर से चूसो आहहह्ह्ह कर रहा था. फिर मैंने उसकी पेंटी को भी उतार दिया और देखा कि उसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे, वो भूरे रंग की थी और मैंने उसकी चूत को बहुत घिसा और उसके साथ साथ मुझे भी बहुत मज़ा आ गया और कुछ देर बाद वो मुझसे बोली कि साले मुझे यह तेरा केला चाहिए, प्लीज अब इसे तू अंदर डाल दे उफफ्फ्फ्फ़ प्लीज़ में अब और नहीं सह सकती.

तभी मेरी नज़र प्रिया पर पड़ी, उसके हाथ में एक जलती हुई सिगरेट थी, वो सिगरेट को पीते हुए मुझसे कहने लगी कि बेबी पहले तुम अंकिता को चोद लो, उसके बाद तुम मुझे भी चोद देना और वो मेरे लंड को अपने एक हाथ में पकड़कर बोली कि अरे मेरे शेर अभी तू अंकिता को शांत कर दे, उसके बाद मुझे भी शांत जरुर करना और वो मेरे लंड को अपने मुहं में लेकर चूसने लगी, लेकिन कुछ देर चूसने के बाद वो पीछे हट गई और फिर वो इतना करके दोबारा अपनी जगह पर चली गयी. फिर अंकिता मुझसे बोली कि आओ ना बेबी प्लीज अब चोदो ना मुझे उफफ्फ्फ्फ़ स्स्ईईईइ में मरी जा रही हूँ.

फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुहं पर रख दिया और धीरे से अंदर दबाने लगा. तब मैंने महसूस किया कि उसकी चूत ज्यादा टाईट नहीं थी. मैंने थोड़ा सा दबाव दिया और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में सरकता हुआ अंदर चला गया और वो दर्द से चीख रही थी, आईईईईइ उफ्फ्फफ्फ्फ़ अहहहह हाँ थोड़ा और अंदर डालो बेबी अहहहह हाँ पूरा अंदर डाल दो, वो अब मेरे होंठो को चूस रही थी और मेरे दोनों हाथ उसके बूब्स पर थे और लंड पूरा चूत में लगातार धीरे धीरे अंदर बाहर हो रहा था और वो मुझसे कह रही थी, आहहहा हाँ और ज़ोर से चोद मुझे बहनचोद और हाँ चोद चोद डाल मुझे उफ्फ्फ्फफ्फ् और में भी आहहह हाँ रांड ले लंड ले, खा जा मेरे लंड को साली कुतिया आहहह्ह्ह अब में उससे बोला कि में झड़ने वाला हूँ.

फिर वो बोली कि तू आज मेरी चूत को भर दे और फिर में आहहहहहह कहकर ज़ोर ज़ोर से धक्का लगाने लगा और फिर में उसकी चूत के अंदर ही झड़ गया और उसके बाद भी दोबारा एक बार फिर से उसी समय मैंने उसको चोदा. फिर वो मुझसे बोली कि तुझे अब प्रिया को भी चोदना है और फिर हम दोनों ने बाथरूम में जाकर नहाने का भी बहुत मज़ा लिया और फिर पूरे नंगे ही हम हॉल में आ गये.

फिर प्रिया मुझसे बोली कि पहले तुम यह दूध पी लो और थोड़ा आराम कर लो, उसके बाद में देखती हूँ कि तुम्हारे लंड में कितनी ताक़त है? और फिर हम तीनों ने मिल्क शेक पिया और अंकिता ने तीन सिगरेट जलाई और हमने सिगरेट पी. दोस्तों उसके बाद मैंने प्रिया और अंकिता दोनों को बहुत अच्छी तरह से बारी बारी से और फिर एक साथ भी चोदा और उनकी चूत की आग को शांत कर दिया.