एक दिन की बात हे गर्मियों के दिन थे में स्कूल से आकर होम वर्क कोम्प्लेट करता था एंड मेरी फेमिली में सब –सोते थे तो साथ वाले घर में ३ लडकिय थी जिसमे से एक दीदी मुझे बहोत अच्छी लगती थी वो हमारे साथ खेलती थी वो कॉलेज भी जाती थी तो जब हम खेलते थे तबी वो मुझे अपने साथ छुपा लेती थी बेड के निचे या बाथरूम में एंड डोर बंद कर देती थी फिर अपने दोनों हाथ मेरी आईज पर रख देती थी और धीरे धीरे मेरे एयेर में बोलती थी तब वो उसका गरम गरम सांस से मुझे अजीब सा मुझे कुछ होने लगता था. कुछ समज ही नहीं आता था की क्या हो रहा हे वो एयर में बोलती थी की की माउथ खोलो मुझे चेक करना हे की तुमने ब्रस किया हे की नहीं. ? फिर मेरा मौत खोल के कुछ गिला गिला लगाती थी. बाद में पता चला अपनी टंग डालती थी मेरे मुह में.

एसे कई दिन चलता रहा फिर वो डेली दोपहर को मुझे अपने घर बुलाती और मुझे रूम में बंद कर देती एंड अपने साथ बाजू पे लिटा देती. बाते करती एंड में उनका सूट ऊपर करके उनके पेट पे हाथ फेरता था उतनी देर डेली में फिर शरारत करने के लिए उनके थिघस पे हाथ ले जाता था फिर लेग्स के बिच में फिर  वो मुझे डाट वो हाथ हटवा देती थी बट मेरा मन करने लगा था की उनकी पेंटी में हाथ डालू.

डेली एसे चलता रहा फिर एक दिन वो मुझे बाथरूम ले गई उन्होंने मेरी आईज पे अपना दुपट्टा  बाँध दिया और कहने लगी आज तो चेक करके मेने ब्रस किया हे की नहीं. एंड मुझे बिठा दिया फिर पता भी नहीं मेरे मुह के आगे क्या था. उन्होंने मेरा हाथ वह लगवाया, और वहा बहोत राउंड से बाल थे मुझे पता नै था की वो चीज क्या थी फिर उन्होंने मेरा मुह वह पर दबा दिया. मुझे सांस लेने में प्रॉब्लम हुई.थी बट वो मुझे गन्दी गालिया देने लगी और जबरदस्ती मेरे बाल से पकड़ कर वह मुह लगवा रही थी.

पता नहीं एसा बिहेव कर रही थी जेसा कोई पागल करता हे मुझे डर लगने लगा था उस से फिर वो मुझे डेली बुलाती दुपट्टा मेरे मुह पे बांधती एंड पहले मेरा मुह टेस्ट करती फिर बाल मेरे मुह में डालती फिर एक दिन मेने देखा दुपट्टा हटाकर जब वो मेरा मुह वह लगवा रही थी तो देखा उसकी उसकी सलवार डोर पे थी एंड वाइट् कलर क ब्रा भी उसका उसके एक हाथ से उसने अपना निपल दबा रख्खा था जोर से एंड दूसरा हाथ मेरे सर पर . मेने उस दिन देखा की ये ये तो मुझसे अपनी सुस्सू वाली  जगह चुसवाती हे मुझे अजीब सी फिलिंग आई. एक दम मेने उनके हिप्स कास कर पकड़ लिए. एंड बोलने लगा एक आज नै चोदुंगा खाजाऊंगा इससे नहीं तो युरिन करो अभी मेरे मुह में वो कहने लगी नहीं यूरिन नहीं.

तुम्हारा मुह भर जाएगा, मेने जब ज्यादा फ़ोर्स करा तो उसने कर दिया एक दम मेरा पूरा मुह भर गया गरम गरम सलिन सा था मुझे अच्छा लग रहा था फिर सब क्लियर हो गया फिर उस दिन वो मुझे बेड पर ले गई. और मुझे लेटने का इशारा किया. मेरी धड़कन तेज़ हो गई थी मुझे पता नहीं था की में ये सब क्या कर रहा हूँ. ये सब ठीक भी हे या नहीं मुझे मज़ा भी आ रहा था साथ ही डर ज्यादा लग रहा था.

फिर उन्होंने मेरे ऊपर आकर मुझे जोर से अपने होटो में ले लिया और खाने लगी फिर जब टीथSइ काट रही थी मुझे दर्द हुआ मेरा गुस्से में खड़ा हो गया उसने मुझे रिक्वेस्ट करके रोका पकड़ कर मेने उसकी सलवार खोली एंड पुस्सी पे मुह रख्खा और उसका मास तीथ में ले के दबाने लगा एंड टुंग से पूरी चूत चूसने लगा मुझे कुछ पता नै लग रहा था वो थोडा थोडा यूरिन निकल रही थी.

में उसे भी चुसे जा रहा था. मेरे एयर्स लाल गरम हो गए एंड उसने अपना हाथ मेरी सर्ट में डाला एंड मेरे दिलक को हिलाने लगी अपनी ३ फिंगर से मुझे एसा लग रहा था जेसे जन्नत में हो में बोल रहा था प्लीज् और हिलाओ तुम बहोत अच्छी हो. प्लीज् हिला दो जोर जोर से उसने थोड़ी देर तक हिलाया फिर मुझे लिटा कर मेरे ऊपर चढ़ गई उसके बूब्स लटक रहे थे पॉइंटेड अ शेप में. एंड मुझे मुह खुलवा के कहा की ये निपल दांतों में दबा लो एंड चोदना नि बस चाहे में कितना मर्ज़ी हिलती रहू. मेने दबा लिया सॉफ्ट सा था न वो हिलने लगी आगे पीछे उनके बूब्स हिले जा रहे थे मेने जोर से दबा रख्खा था और एक हाथ से में उनके दुसरे बूब्स को थप्पड़ मारने लगा बहोत ही मज़ा आने था उसकी स्पीड बहोत ही तेज़ होने लगी. मुझे एक अलग सा ही मज़ा आ रहा था एक नंगी लड़की का चुचा मेरे मुह में.था.

मुझे बड़ा अच्छा लगा फिर उसने मुझे किस किया और हम लेट गए फिर ये काम हम एक वीक में २ टाइम्स करते थे जिस दिन वो एसा करवाती हे उस दिन में घर जाता हूँ सो जाता था मुझे बहोत नींद आती थी उस दिन उसने मुझे बहोत एन्जॉय करवाया. सब उसे बहोत शरीफ समजते थे. बट में जानता था वो मेरे लिए कितनी भूखी शेरनी थी अभी उसकी मेरेज हो गई हे अब उसके चूतड और भी मोटे हो गए हे.

अब में उसे केसे चोदु प्लीज् मेरिड लेडिज एंड गर्ल एंड बॉय प्लीज् गिव मी आइडिया अस अ रिटर्न गिफ्ट फॉर माय स्टोरी आई वोंट टू फ़क हर क्युकी मुझे लेडिज की सकिंग करना बहोत अच्छा लगता हे.