हेलो दोस्तों, मेरा नाम राकेश है. मेरी उम्र ३६ साल है. मैं एक शादीशुदा आदमी हु और मेरे दो बच्चे है. मेरा एक गारमेंट का बिज़नस है और जब भी कोई नया सैंपल आता है. तो मुझे मार्किट में जाना पड़ता है.

एक बार, कुछ कपड़ो के कुछ नये सैंपल आये थे, जिसके आर्डर के लिए मुझे दिल्ली जाना पड़ा और मैं दिल्ली चले गया. फिर मैं अपने सैंपल लेकर मार्किट में गया और वहां से काफी आर्डर ले लिए. सैंपल लेडिज गारमेंट के थे. ब्रा, पेंटी और कुछ शॉर्ट्स थे. एक दिन, मैं मार्किट में घूम रहा था, तो मैंने एक दुकान में अपने सैंपल दिखाए. तो अचानक से मुझे मेरी कजिन साली राधा दिख गयी. वो उस दूकान में अंडर-गारमेंट्स दिखा रही थी.

मैंने वहां और देर रुकना उचित नहीं समझा और वहां से निकल गया. उसने मुझे देख लिया था. उसने मुझे दुकान से बाहर निकल कर रोक लिया और पूछा – आप यहाँ कैसे? तो मैंने कहा – मैंने इस शॉप में कपडे सप्लाई करता हु. फिर उसे अपने बिज़नस के बारे में बताया. तो उसने कहा – फिर तो अच्छा है. आप मुझे कम दाम में माल दे दोगे और हँसने लगी. फिर उसने मुझसे सैंपल दिखाने को कहा, तो मैंने मना कर दिया और कहा – ये मेरे क्लाइंट की शॉप है और मैं नहीं दिखा सकता हु.

उसने ओके कहा और बोली – फिर हम कहीं और देख लेंगे और हम दोनों वहां से निकल गये. उसके पास गाडी थी. उसने मुझे गाडी में बैठने को कहा और फिर मैं उसकी गाडी में बैठ गया. उसने कहा – आप को कहाँ जाना है? मैंने उसे अपने होटल का नाम बताया. उसने मुझे होटल तक लिफ्ट दी और मैंने उसे ऊपर तक आने को कहा. वो हंस कर बोली – हाँ, आप मुझे सैंपल भी दिखा देना. हम दोनों मेरे रूम में आ गये. मैंने कोल्ड-ड्रिंक का आर्डर दिया और मैं उसे सैंपल दिखाने लगा. अंडरगारमेंट बहुत ही हॉट एंड सेक्सी थे. उसे सब पसंद आये. तो उसने पूछा, कि कौन-सा मुझे सबसे ज्यादा पसंद है? मैंने कहा – आपको जो पसंद हो. और मुझे कुछ अजीब सा लग रहा था. फिर उसने कहा – मुझ पर कौन सा सूट करेगा. तो मैंने कहा – अब मैं कैसे बोला सकता हु आपको. तो उसने कहा – अगर आप अपनी गर्लफ्रेंड को देते, तो कौन सा देते. मैंने उससे पूछा, कि आपका साइज़ क्या है? उसने कहा – शायद ३२ है. तो मैंने कहा – नहीं. आप को कनफ्यूजन है, वो बोली. मैंने कहा – नहीं ठीक है.

मैंने कहा – माप कर देखो. उसने कहा – कैसे मापू. आप ही माप लीजिये. तो मैंने इंचटेप निकाली और उसका साइज़ चेक किया. तो उसकी साड़ी बीच में आ रही थी. तो उसने अपनी साड़ी का पल्लू नीचे किया और जब मैंने उसका माप लिया, तो मेरे हाथ उसके बूब्स को छुने लगे. फिर मैंने उसके पीछे गया, तो उसने जानबूझकर अपनी गांड को पीछे किया और मेरा लंड उसकी गांड को छुने लगा. फिर उसका साइज़ ३४ आया और मैंने एक सेक्सी सेट निकाल कर उसको दे दिया. मैंने उसको बोला – ये पहनकर देखिएगा और कैसा लगा, बताइयेगा.

फिर उसने मुझे अपने घर आने का निमंत्रण दिया और एक सेक्सी सी स्माइल दी. मैंने उसे सन्डे को आने को कहा. सैटरडे को उसके हबी का फ़ोन, कि उसे किसी काम से जाना है. तो आप सन्डे मोर्निंग आ जाओ और मैं सन्डे को उसके घर चले गया. फिर, जब मैं वहां पंहुचा, तो हमने बातें की और खाना खाया. फिर उसके जाने का टाइम हो गया. तो मैंने उसे स्टेशन ड्राप किया और साथ में मेरी साली राधा भी गयी थी.

हमने उसे स्टेशन ड्राप किया और हम रिटर्न हो गये. रास्ते में उसने मुझे मूवी चलने को कहा. तो मैंने कहा – आपके हबी को अगर पता चलेगा, तो क्या सोचेगा? तो मैंने कहा – उन्हें कैसे पता चलेगा? मैं नहीं बोलूंगी. फिर उसने कहा – घर चलके पहले मैं चेंज कर लेती हु. फिर चलते है. हम उसके घर वापस आ गये और वो एक सेक्सी सी साड़ी पहनकर बाहर आई. मैंने उसे देखा, तो देखता ही रह गया. क्या कयामत लग रही थी वो. उसने मुझे होश में लाया और मुझे पूछा – क्या हुआ? मैं कहा – कुछ नहीं. बस ऐसे ही. वो एक नॉटी सी स्माइल देकर हंस पड़ी और मैं झेंप गया. हम लोग गाडी से जाने लगे, तो वो बोली – पार्किंग में दिक्कत होगी. चलो मेट्रो से चलते है. हम मेट्रो स्टेशन गये. वहां काफी भीड़ थी. मैंने कहा – इतनी भीड़. मैंने कैसे जाऊंगा आपको लेकर. वो समझ गयी और बोली – आप मेरे पीछे खड़े हो जाना और हम भीड़ में एक ट्रेन में चढ़ गये और वो मेरे आगे थे. मेरा लंड उसकी गांड को छु रहा था. उसकी गांड के स्पर्श से मेरा लंड खड़ा होने लगा और उसको चुभने लगा. उसका पता चल गया, कि मेरा लंड खड़ा हो गया है. उसने मुझे कुछ नहीं कहा और बार – बार पीछे प्रेशर कर रही थी.

हम थियेटर गये और लेट हो जाने के वजह से हमें सीट नहीं मिल पा रही थी. तो हमने केबिन सीट ले ली. वहां सिर्फ हम दोनों ही बैठे हुए थे. मूवी में एक हॉट सीन आया. मैं अपने लंड को एडजस्ट करने लगा. मुझे देखकर वो हसने लगी. फिर हम मूवी देखने लगे और खतम होने के बाद घर आ गये. फिर उसने मुझे वापस से सैंपल दिखाने को कहा. तो मैंने सभी सैंपल दिखाए और उसमे एक सेक्सी ग्राउंड था. उसने कहा – ये मुझे दे दीजिये. मैंने उसे ग्राउंड दे दिया. फिर वो बोली, कि मैं ट्रायल करके आती हु और वो चेंज करके मेरे सामने आ गयी. उसने मुझे एडजस्ट करने को कहा. मैंने उसके ग्राउंड को एडजस्ट किया. तो बार – बार उसके बूब्स पर हाथ लग रहे थे. फिर मैंने उसे कहा, कि मैंने सुना है, कि आप डांस बहुत अच्छा करती है. तो वो बोली – जरुर दिखाउंगी. पर आपको भी मेरे साथ डांस करना पड़ेगा. फिर डांस के लिए म्यूजिक ओन किया और मुझे भी साथ में डांस करवाने लगी. मैंने उसकी कमर पकड़ कर करने लगा. मिनी ग्राउंड होने के कारण, उसकी कमर नंगी थी, जिससे उसकी चिकनी कमर पर मेरा हाथ चल रहा था. और कभी उसके सामने तो कभी उसके पीछे. सामने जाता.. तो उसकी चूची का स्पर्श मिलता और पीछे जाता, तो उसकी गांड में लंड रगड़ता. उसे भी मज़ा आने लगा. फिर मैंने उसे गोद में उठा लिया. जिस से मेरा एक हाथ उसकी गांड पर और दूसरा हाथ उसकी चूची के साइड में चला गया. ५ मिनट तक इसे ही रखा और फिर उसने कहा – प्लीज मुझे नीचे उतारो.. प्लीज. तो मैंने उसे नीचे उतार दिया. फिर उसके पीछे खड़ा हो कर उसके पेट को सहला रहा था.

मेरा लंड उसकी गांड पर रगड़ रहा था. जिससे वो गरम हो गयी और उसने मेरा लंड पकड़ लिया और कहा – ये मुझे सुबह से परेशान कर रहा है. तो मैंने उसकी चूची को पकड़ कर कहा – ये भी मुझे सुबह से तड़पा रही है. उसने कहा – जब दोनों ही तड़प रहे है, तो इसका इलाज है मेरे पास. मेरे तड़प की दवा आप हो और आपके लिए मैं हु. प्लीज इसे निकालो. मैंने तुरंत पेंट निकाल दी और उसने एकदम से मेरे लंड को पकड़ लिया और हिलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने उसकी गाउन को उतार कर उसकी चूची को दबाने लगा और चूसने लगा. वो अहहहः अहहहः अहहाह करने लगी और मेरे लंड अपनी जीभ से चाटने लगी. फिर उसने मेरे लंड को अपने मुह में डाल लिया और उसे चूसने लगी. ३० मिनट एक हम एक दुसरे की बॉडी को चूस कर मज़ा लेते रहे और उसने कहा – अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता. प्लीज डाल दो. फिर मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा. वो बार – बार झटके मार रही थी. ताकि, मेरा लंड उसकी चूत में घुस जाए और प्लीज डालो … डालो ना … अहहहहः अहहहः ऊऊऊऊईईईईइमा… प्लीज अब डाल भी दो… मुझे और मत तड़पाओ…

करीब १५ मिनट लंड रगड़ने के बाद, मैंने अपना लंड उसकी चूत में डाला. तो वो चिल्ला उठी… ऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ… बहुत मोटा है तुम्हारा. मैंने उसको अपनी जोरदार धक्को की बारिश से चोदना जारी रखा. ५ मिनट के बाद, मैंने अपने धक्के तेज किये और वो भी उचक – उचक के चुदवाने लगी. ३० मिनट की चुदाई के बाद, हम दोनों ने ही अपना – अपना पानी छोड़ दिया. फिर हम दोनों एकसाथ बाथरूम में घुस गये और एक साथ ही नहाये. हम दोनों नहाते वक्त भी एक दुसरे के शरीर को चूम रहे थे और हमने एक दुसरे के शरीर का भरपूर मज़ा लिया. फिर, हम दोनों ने रात को फिर से चुदाई की और सुबह मैं वह से चला आया. कैसी लगी आपको मेरे कहानी…